Categories: कोविड 19

कोरोना के मामले इसी तरह बढ़ते रहे तो मौत की संख्या लाखों में होगी, स्वास्थ्य सेवाएं भी होंगी प्रभावित

देश में कोरोना के बढ़ते मामले परेशानी का कारण बनते जा रहे हैं, वंही अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए लॉकडाउन 4.0 में मिली रियायतें क्या असर दिखाएंगी यह कह पाना बेहद मुश्किल हो गया। लॉकडाउन के भीतर ही यह मामले 1 लाख पार कर चुके हैं, और हर दिन यह मामलें हजारों की संख्या में बढ़ रहे हैं, ऐसे में कोरोना बेहद तेजी से फैलता दिखाई दे रहा है। अगर हालात काबू नहीं किए गए तो भारत में लोगों की मौत का आंकड़ा लाखों तक पंहुचने में समय नहीं लगेगा (IF CORONA PATIENT INCREASED THEN HEALTH SERVICES WILL BE AFFECTED)। साथ ही इसके कारण देश में स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रभावित होंगे, चलिए जानते हैं क्या असर होगा इसका स्वास्थ्य सेवाओं पर

ऐसी हैं भारत की स्वास्थ्य सेवाएंं  (IF CORONA PATIENT INCREASED THEN HEALTH SERVICES WILL BE AFFECTED)

अगर अस्पतालों और डॉक्टरों की संख्या पर नजर डाले तो यह आंकड़े बहुत ही डरावने है  सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अस्पतालों की संख्या तो बेहद कम है ही, साथ ही 1700 मरीजों पर केवल एक ही डॉक्टर मौजूद है। ऐसे में कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा भी उन्ही को है। इनमें से अगर 3 प्रतिशत डॉक्टर भी कोरोना से संक्रमित हो जाते हैं तो कोरोना को संभालना मुश्किल हो जाएगा(IF CORONA PATIENT INCREASED THEN HEALTH SERVICES WILL BE AFFECTED)।

देश में अस्पातलों की संख्या केवल 69 हजार 284 है, इसमें से 25 हजार 778 सरकारी है जबकि 43 हजार 486 प्राइवेट अस्पताल हैं  इन अस्पतालों में 18 लाख 99 बैड हैं।

कोरोना के अब तक कुल 3.1 प्रतिशत मरीज ही आईसीयू में हैं, अगर मरीज बढ़े तो भी देश में केवल 94 हजार 961  आईसीयू बैड ही मौजूद हैं, यानी ताजा मामलों में जरा भी इजाफा हुआ तो यह मुमकिन है कि आईसीयू बैड कम पड़ने लगें।

जब भी कोरोना के मरीज की हालत गंभीर होती है, तो उसे वेंटिलेटर की जरूरत पड़ती है। लेकिन भारत में कुल 47 हजार 481 वेंटिलेटर ही अस्पतालों में हैं।

हालात हो सकतें हैं गंभीर (IF CORONA PATIENT INCREASED THEN HEALTH SERVICES WILL BE AFFECTED)

हालांकि सरकार की तरफ से बहुत से क्ववेरंटाइन सेंटर, कोविड अस्पताल और कोविड सेंटर बनाए गए हैं लेकिन फिर भी इन सब का आंकड़ा मिला भी लें तो भी देश के हालात काफी खराब ही दिखाई देते हैं(IF CORONA PATIENT INCREASED THEN HEALTH SERVICES WILL BE AFFECTED)। अगले कुछ दिन बेहद निर्णायक साबित होंगे, जिसके जरिए यह पता चलेगा कि क्या लॉकडाउन 4.0 में रियायत देना ठीक है या यह एक बहुत गलत निर्णय है।

Nishant

Recent Posts

UP Bhulekh | यूपी ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी देखें! @upbhulekh gov

UP Bhulekh को कहीं अलग अलग नामों से भी जाना जाता है, जैसे खेत का…

2 months ago

PM Kisan Samman Nidhi Yojana List | किसान सम्मान निधि लाभार्थी सूची 2020 ऑनलाइन देखें @pmkisan gov

देश की आर्थिक व्यवस्था को बनाए रखने में किसानों का बहुत बड़ा योगदान रहा है।…

2 months ago

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना ऑनलाइन आवेदन | PMSYM Yojana 2020 Apply Online, Registration Form

श्री नरेंद्र मोदी ने देश के असंगठित क्षेत्र के लोगों को राहत पहुंचाने के लिए…

2 months ago

बिहार राशन कार्ड लिस्ट 2020 | जिलेवार बिहार राशन कार्ड लाभार्थी सूची ऑनलाइन देखें, डाउनलोड करें

Bihar Ration Card बिहार सरकार के द्वारा जारी किया गया एक Document है। यह राशन…

2 months ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर बन रही फिल्म का फर्स्ट लूक आया सामने, इसी साल हो सकती है रिलीज

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही बहुत सी बातें खुल कर…

2 months ago

‘सुशांत की मौत पर एक भी दावा झूठा साबित हुआ तो अपना पद्मश्री लौटा दूंगी’ – कंगना रनौट

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही बॉलीवुड की दबंग अदाकारा कंगना…

2 months ago

This website uses cookies.